Saturday, March 24, 2012

प्रदेश में रोजाना एक महिला से गैंग रेप!

बलात्कार की रोज आठ घटनाएं


जबलपुर रेंज में सबसे अधिक २० वारदात



भोपाल (ब्यूरो)। प्रदेश में पुलिस महकमा महिला अपराध रोकने के लिए चाहे जितना जतन करे, लेकिन यहां महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। बलात्कार की जहां रोज आठ घटनाएं हो रही हैं, वहीं रोजाना एक महिला के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना भी हो रही है। इनमें सबसे अधिक २० घटनाएं जबलपुर रेंज में हुई हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि एक नवंबर २०११ से लेकर २९ फरवरी २०१२ तक सामूहिक रेप की १०४ घटनाएं भी हुई हैं। इनमें सबसे अधिक २० घटनाएं जबलपुर रेंज में हुई हैं। ग्वालियर और इंदौर रेंज में एक-एक दर्जन,चंबल में दस, होशंबाद रेंज में दस, भोपाल रेंज में नौ, सागर में सात और शहडोल रेंज में सात घटनाएं हुई हैं। ज्ञात हो कि बेटमा में गत माह १६ लोगों द्वारा दो युवतियों से बलात्कार की घटना काफी सुर्ख रही है।

जानकारी के मुताबिक प्रदेश में बलात्कार की घटनाओं में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है। वर्ष २००९ में २८४६, २०१० में २९९४ और २०११ में ३०६९ घटनाएं हुई है। इन घटनाओं का विश्लेषण किया जाए तो रोजाना आठ महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। वहीं महिलाओं से संबंधित अन्य मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। यानी रोजाना ७६ महिलाओं के साथ आपराधिक वारदातें हो रही हैं। हाल में कांग्रेस विधायक पांचीलाल मेढ़ा ने विधानसभा में सरकार से इन अपराधों पर जानकारी मांगी थी। मेढ़ा का कहना है कि मप्र में इस तरह के अपराधों की स्थिति भयावह है।

२६१ आरोपी गिरफ्तार

विभिन्न जिलों में घटित सामूहिक बलात्कार की घटनाओं में २६३ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। अनूपपुर के राजेंद्र गांव, रायसेन के उमरावगंज, पन्ना के कोतवाली, जबलपुर के लार्डगंज, विदिशा के कोतवाली, दतिया के गोदन और उज्जैन के भैरवगढ़ थाना क्षेत्र में घटित घटनाओं में आरोपियों की अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई है।

१२ जिलों में नहीं हुई घटनाएं

अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक प्रदेश के अशोकनगर, मुरैना, झाबुआ, खंडवा, बड़वानी, मंदसौर, नीमच, कटनी, दमोह, मंडला, डिंडौरी, सीधी और उमरिया जिले में सामूहिक रेप की घटनाएं नहीं हुई है। वहीं रेलवे के इंदौर, भोपाल और जबलपुर रेंज में कोई भी घटनाएं नहीं हुई हैं।


Published in 24 Mar-2012 | Print Edition of Naidunia

No comments:

Post a Comment